संविधान संशोधन (Constitutional Amendment) क्या है

संविधान वो दस्तावेज हैं जिस पर हमारे देश की शासन व्यवस्था और हमारा समाज टिका हुआ है | जब हम किसी देश के संविधान की बात करते हैं तो हम देखते हैं कि ये दो प्रकार के होते है, एक लिखित और दूसरा अलिखित, विश्व का प्रथम लिखित संविधान संयुक्त राज्य अमेरिका का है लेकिन वही संसार का सबसे बड़ा लिखित संविधान की बात कि जाये तो वह भारत का ही है | संविधान को बनाने के लिए सर्वप्रथम सन 1935 में एक संविधान सभा की मांग की थी जिसका विचार एम.एन. रॉय द्वारा दिया गया था और इसके द्वारा ही आज हमारा संविधान हमारे सामने आ पाया | संविधान में बहुत सारे नियम प्रावधानित है जिनके आधार पर हमारा देश आगे बढ़ता है और विकास के पथ पर अग्रसर होता है |

लेकिन  समय के साथ साथ नियमो और प्रावधानों में परिवर्तन की आवश्यकता होती है, जिसके लिए संविधान संशोधन किया जाता है इससे वर्तमान समय के अनुसार संविधान की गुणवत्ता बढ़ जाती है | संविधान के प्रावधानों में परिवर्तन को ही संविधान संशोधन कहा जाता है | संविधान  संशोधन के इस  प्रक्रिया का उल्लेख अनुच्छेद-368 के अंतर्गत किया गया है |

26 जनवरी को ही क्यों लागू हुआ संविधान 

इस पोर्टल के माध्यम से यहाँ संविधान संशोधन (Constitutional Amendment) क्या है | इसकी प्रक्रिया और कुल संशोधनों की सूची के बारे में पूर्ण रूप से बात होगी | साथ ही इस पोर्टल www.nocriminals.org पर अन्य संविधान की महत्वपूर्ण बातों और उसकी प्रमुख विशेषताओं के बारे में विस्तार से बताया गया है आप उन आर्टिकल के माध्यम से संविधान के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 क्या है

संविधान के बारे में (About Constitution)        

किसी भी संस्था के द्वारा या फिर देश के द्वारा बनाये गए  वो नियम जिनके माध्यम से उस देश या संस्था का ठीक प्रकार से संचालन किया जा सके, इसको ही उस देश या संस्था का संविधान की संज्ञा दी जाती है | किसी भी देश का संविधान उस देश की राजनीतिक व्यवस्था, न्याय व्यवस्था, नागरिकों के हितों की रक्षा करनें का एक मूल दस्तावेज होता है, जिसमें लिखे हुए नियमो के आधार पर  उस राष्ट्र के विकास की दिशा का निर्धारण होता है |

पॉक्सो एक्ट क्या है

संविधान संशोधन (What is Constitution Amendment ) क्या होता है ?

जैसा की हमने आपको ऊपर समझाया कि किसी  देश के शासन व्यवस्था के लिए नियम और कुछ प्रावधान बनाये गए हैं और इस बनाये हुए नियमो और प्रावधानों में समय के अनुसार आवश्यकता को देखते हुए  परिवर्तन किया जाता है इस परिवर्तन को ही संविधान संशोधन कहा जाता है, संविधान में इस प्रकार के संशोधन के लिए एक प्रक्रिया का उल्लेख किया गया है, जिसके अनुसार ही संविधान  में संशोधन किया जा सकता है |

घरेलू हिंसा अधिनियम क्या है



संविधान संशोधन  विधेयक (About Constitution Amendment Bill) के बारे में

सरकार या किसी दल के प्रतिनिधि को यह महसूस होता है, कि संविधान के किसी ख़ास नियम को परवर्तित करना आवश्यक है, जिससे देश के सभी नागरिको को अधिक लाभ प्राप्त हो सकता है, ऐसे में इस परिवर्तन या संशोधन के लिए एक विशेष प्रकार का  प्रारूप तैयार किया जाता है संविधान संशोधन के लिए बनाये गए इस प्रारूप को विधेयक कहा जाता है, इस प्रारूप में संविधान संशोधन से  सम्बंधित सभी बातों  को विस्तार पूर्वक दर्शाया जाता है | लिखते समय यदि किसी शब्द में संशय प्रतीत होता है, तो उस शब्द के अर्थ का विस्तार पूर्वक वर्णन भी किया जाता है, इसे ही हम संविधान संशोधन विधेयक कहते हैं |

तलाक (Divorce) कैसे होता है

अपने देश भारत के संविधान में, संविधान संशोधन को भाग- 20 में अनुच्छेद-368 के अधीन प्रावधानित किया गया है | संविधान संशोधन के लिए अनुच्छेद-368 में तीन प्रक्रिया बताई गई है, जिससे संविधान संशोधन किया जाता है, यह प्रक्रिया इस प्रकार है |

  1. संसद के साधारण बहुमत (simple majority) से
  2. संसद के दो-तिहाई बहुमत से
  3. राज्य के विधानमंडल की स्वीकृति से

कारण बताओ (शो कॉज) नोटिस क्या है

संविधान संशोधन की प्रक्रिया (Process of Constitution Amendment )

संविधान संशोधन करने के लिए हमने ऊपर बताया कि अनुच्छेद-368 में तीन प्रक्रिया बताई गई है इसके लिए सबसे पहले किसी दल या जन प्रतिनिधि के द्वारा लोकसभा या राज्य सभा में विधेयक (विधेयक क्या होता इसको चर्चा हम आपसे ऊपर कर चुके हैं) पेश किया जाता है,

  1. विधेयक पेश करने के बाद इस पर लोकसभा या राज्य सभा जहाँ भी  विधेयक प्रस्तुत किया जाता है वहां इस पर चर्चा की जाती है,
  2. चर्चा पूरी होने के बाद लोकसभा या राज्य सभा जिस भी सदन में प्रस्तुत होता है, उस सदन में वोटिंग कराई जाती है, यदि उस विधेयक के पक्ष में निर्धारित मत पड़ते है, तो उसे उस सदन में पारित मान लिया जाता है |
  3. इसके बाद उस विधयेक को दूसरे सदन में भेजा जाता है, जहां  पर भी पुनः इस विधेयक पर चर्चा की जाती है,
  4. चर्चा पूरी होने पर मतदान कराने की प्रक्रिया अपनायी जाती है,
  5. यदि विधेयक के पक्ष में निर्धारित मत पड़ते है, तो इसे वहां भी अर्थात दूसरे सदन में पारित मान लिया जाता है,
  6. दोनों सदनों से पारित होने के बाद इस विधेयक को राष्ट्रपति के पास स्वीकृति प्रदान करने के लिए भेजा जाता है,
  7. जब राष्ट्रपति इस विधेयक पर हस्ताक्षर कर देते है, तो यह विधेयक (Bill) अब एक्ट बन जाता है और इसे सम्पूर्ण देश में लागू कर दिया जाता है |

लोन एग्रीमेंट क्या होता है 

मित्रों उपरोक्त वर्णन से आपको आज संविधान संशोधन (Constitutional Amendment) क्या है | प्रक्रिया | कुल संशोधनों की सूची [डाउनलोड] इसके बारे में जानकारी हो गई होगी | लिखित संविधान का क्या अर्थ  है इसके बारे में विस्तार से हमने उल्लेख किया है, यदि फिर भी इससे सम्बन्धित या अन्य किसी भी प्रकार की कुछ भी शंका आपके मन में हो या अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो आप  हमें  कमेंट  बॉक्स  के  माध्यम  से अपने प्रश्न और सुझाव हमें भेज सकते है | इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें |

पार्टनरशिप डीड क्या है

Leave a Comment