एम्प्लोयी एग्रीमेंट फॉर्मेट | Employee Bond/Agreement Format

भारत में बेरोजगारी की समस्या से सभी लोग अच्छी तरह से वाकिफ है, हालाँकि बेरोजगारी कम करनें के लिए सरकार द्वारा निरंतर प्रयास जारी है | आज किसी भी क्षेत्र में रोजगार प्राप्त करनें के लिए कम्पनी द्वारा निर्धारित शर्तों को मानना पड़ता है | बड़ी-बड़ी कम्पनियां एक नये कर्मचारी को नियुक्त करते समय कम्पनी … Read more

वसीयत (Will) क्या होती है | प्रकार | वसीयत कैसे लिखी जाती है

दोस्तों हम चाहे आधुनिक युग की बात करें या फिर प्राचीन काल की, कानूनों के बारे में हम अक्सर देखते और सुनते हैं, लेकिन साधारण जनमानस इन कानूनों के बारे में या तो बिलकुल नहीं जानता है या फिर थोड़ा बहुत जानता है जिसका केवल एक मात्र कारण हमारे कानूनों की भाषा का जटिल होना … Read more

पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी क्या है | Power of Attorney (मुख्तारनामा)

पॉवर ऑफ़ अटॉर्नी बहुत ही पुराना और प्रचलित शब्द है, जिसे हम अक्सर लोगो द्वारा, समाचार पत्रों और न्यूज़ आदि में सुनते रहते है | यदि कोई व्यक्ति किसी करणवश अपनी प्रॉपर्टी, व्यवसाय से सम्बंधित मामले, बैंकिग लेन-देन या कानूनी मामले आदि में सटीक निर्णय लेने में असमर्थ है, तो वह अपनें स्थान पर किसी … Read more

उत्तराधिकारी प्रमाण पत्र (Succession Certificate) कैसे बनता है

हमारे देश में अधिकांश लोग अपनी प्रापर्टी की वसीयत नहीं करते है, परन्तु उनकी मृत्यु के बाद उनके परिवार के सदस्यों को यह साबित करना पड़ता है, कि दिवंगत शख्स के उत्तराधिकारी वहीं हैं | इसके लिए परिवार के सदस्यों को उत्तराधिकार प्रमाणपत्र की आवश्यकता होती है | यह सर्टिफिकेट यह प्रमाणित करता है, कि … Read more

Sale Agreement Format in Hindi | बिक्री विलेख पंजीकरण

कई बार आपसी ताल-मेल बहुत अच्छे होनें के कारण हम प्रापर्टी अर्थात संपत्ति का आपस में ही सेल अग्रीमेंट कर लेते है, परन्तु कानूनी दृष्टिकोण से ऐसा करना गलत है क्योंकि भविष्य में आपको अनेक प्रकार की समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है | भारतीय रजिस्ट्रेशन ऐक्ट 1908 के तहत किसी भी अचल संपत्ति … Read more

Rental Agreement Format in Hindi | रेंट एग्रीमेंट प्रारूप

अक्सर हम अपने शहर से बहार जब जाते हैं तो शुरुआत में हमें रहने के लिए किसी जगह की आवस्यकता होती है | ऐसे में हम कही पर जगह को तलाशने के बाद उसका किराया अर्थात रेंट तय करते हैं उसके बाद ही हम वह रहते हैं | यहाँ ध्यान देने वाली बात ये हैं … Read more

एमओयू क्या है | फुल फॉर्म | MoU Format Explained in Hindi

हमारे देश में अनेक राजनीतिक पार्टिया है, और चुनाव के समय अक्सर पार्टियों के बीच किसी न किसी बात को लेकर मतभेद की स्थिति उत्पन्न हो जाती है | ऐसे में कुछ समझदार लोगों द्वारा दोनों पार्टियों के बीच समझौता कराया जाता है, ताकि चुनाव के दौरान होनें वाले नुकसान से बचा जा सके | … Read more

लीगल नोटिस क्या होता है | Legal Notice Format in Hindi (Explained)

कई बार आपसी सम्बन्ध बेहतर होने के कारण सामने वाला हमारे साथ गलत करता है और  हम सब कुछ सहन करते रहते है | एक समय ऐसा आता है, जब यह सब हमारी सहनशक्ति से बाहर हो जाता है | ऐसे में हम लीगल नोटिस के माध्यम से अपना अधिकार ले सकते है | जब … Read more

प्रमुख कानूनी शब्दावली | Important Legal Terms and Glossary in Hindi

क़ानूनी शब्दावली का प्रयोग मुख्य रूप से न्यायालय में होता है, न्यायालयों के द्वारा आयोजित होने वाली परीक्षाओ में इन शब्दों का प्रयोग किया जाता है, भारतीय कानून प्रणाली के अंतर्गत अनेक ऐसे शब्द होते है, जो दो अलग -अलग शब्द होते है, जिनका अर्थ भी अलग-अलग होता है, लेकिन दिखते समान ही है, वह … Read more

क्या वकीलों को अपने कार्यों का विज्ञापन देने की अनुमति है ?

भारत में प्रतिवर्ष एक बड़ी संख्या में कानून की पढ़ाई पूरी करनें के बाद एक वकील के रूप में नामांकित होने के लिए बार काउंसिल में आवेदन करते हैं। इसके पश्चात इस पेशे में अच्छी ख्याति प्राप्त करनें के उद्देश्य से वह वकालत की शुरुआत करते है | परन्तु कानूनी पेशा अपनानें वाले लोगों और … Read more