आईपीसी (IPC) का क्या मतलब होता है | फुल फॉर्म | भारतीय दंड संहिता की धारा की सूची

क्या आप IPC के बारे में जानते हैं अगर नहीं तो आप एकदम सही जगह है यहाँ हम आपको IPC के बारे में वो सब कुछ बताने जा रहे हैं जिसको अक्सर आपका मन जानना चाहता होगा | यहाँ आप जानेंगे कि किस अपराध के लिए कौन सी धाराएं लगाई जाती है और इसमें क्या सजा होती है उन धाराओं के बारे में आपको जानकारी मिलेगी साथ आपको ये भी पता चलेगा कि अपराधी को जेल में कितने समय के लिए रखा जाता है, जज के सामने अपराधी को किस तरह और कब पेश किया जायेगा इन सबके बारे में आपको हमारे इस पोर्टल पर सभी प्रकार की जांनकारी मिलेगी | तो अब हम आइये जानते हैं इस लेख में आईपीसी (IPC) का क्या मतलब होता है, IPC फुलफॉर्म क्या होता है |

सीआरपीसी (दण्ड प्रक्रिया संहिता) क्या है

आईपीसी (IPC) का क्या मतलब

अगर हम IPC की बात करें तो यह भारत के पहले कानून आयोग की सिफारिश पर 1833 के चार्टर एक्ट के तहत IPC भारतीय दंड संहिता (आई.पी.सी.) 1860 में अस्तित्व में आया | भारतीय दंड संहिता कोड 1 जनवरी, 1862 को ब्रिटिश शासन के दौरान प्रभावी किया गया था | आपको बताता दे कि भारत विभाजन के उपरांत इस  कोड को बाद में स्वतंत्र भारत और पाकिस्तान द्वारा अपनाया गया था। जम्मू और कश्मीर में लागू रणबीर दंड संहिता भी इसी संहिता पर आधारित है। आपको बता दें कि आई.पी.सी.1860 भारत के सभी नागरिकों के लिए लागू है। IPC में कई बार संशोधन भी  किया जा चूका है । अब इसमें यानि  IPC में 23 अध्याय तथा इसमें कुल 511 खंड (धारा) हैं।

भारतीय दंड संहिता (IPC) फुल फॉर्म

आइये जानते हैं  IPC की फुल फॉर्म क्या होती है इसे यानि IPC को INDIAN PANEL CODE कहते हैं इसे हिंदी में “भारतीय दंड संहिता “ कहते हैं आपको हमने ऊपर बताया था कि ये आई.पी.सी.1860 भारत के सभी नागरिकों पर लागू है। IPC में कई बार संशोधन भी किया गया  है । भारतीय दंड संहिता कोड में 23 अध्याय तथा कुल 511 धाराएं  हैं।

संज्ञेय अपराध (Cognisable Offence) क्या है

भारतीय दंड संहिता की धारा की सूची

  • आईपीसी धारा 235 – सिक्के के कूटकरण के लिए उपकरण या सामग्री उपयोग में लाने के प्रयोजन से उसे कब्जे में रखना
  • आईपीसी धारा 236 – भारत से बाहर सिक्के के कूटकरण का भारत में दुष्प्रेरण
  • आईपीसी धारा 237 – कूटकॄत सिक्के का आयात या निर्यात
  • आईपीसी धारा 238 – भारतीय सिक्के की कूटकॄतियों का आयात या निर्यात
  • आईपीसी धारा 239 – सिक्के का परिदान जिसका कूटकॄत होना कब्जे में आने के समय ज्ञात था
  • आईपीसी धारा 240 – उस भारतीय सिक्के का परिदान जिसका कूटकॄत होना कब्जे में आने के समय ज्ञात था
  • आईपीसी धारा 241 – किसी सिक्के का असली सिक्के के रूप में परिदान, जिसका परिदान करने वाला उस समय जब वह उसके कब्जे में पहली बार आया था, कूटकॄत होना नहीं जानता था
  • आईपीसी धारा 242 – कूटकॄत सिक्के पर ऐसे व्यक्ति का कब्जा जो उस समय उसका कूटकॄत होना जानता था जब वह उसके कब्जे में आया था
  • आईपीसी धारा 243 – भारतीय सिक्के पर ऐसे व्यक्ति का कब्जा जो उसका कूटकॄत होना उस समय जानता था जब वह उसके कब्जे में आया था
  • आईपीसी धारा 244 – टकसाल में नियोजित व्यक्ति द्वारा सिक्के को उस वजन या मिश्रण से भिन्न कारित किया जाना जो विधि द्वारा नियत है
  • आईपीसी धारा 245 – टकसाल से सिक्का बनाने का उपकरण विधिविरुद्ध रूप से लेना
  • आईपीसी धारा 246 – कपटपूर्वक या बेईमानी से सिक्के का वजन कम करना या मिश्रण परिवर्तित करना
  • आईपीसी धारा 247 – कपटपूर्वक या बेईमानी से भारतीय सिक्के का वजन कम करना या मिश्रण परिवर्तित करना
  • आईपीसी धारा 248 – इस आशय से किसी सिक्के का रूप परिवर्तित करना कि वह भिन्न प्रकार के सिक्के के रूप में चल जाए
  • आईपीसी धारा 249 – इस आशय से भारतीय सिक्के का रूप परिवर्तित करना कि वह भिन्न प्रकार के सिक्के के रूप में चल जाए
  • आईपीसी धारा 250 – ऐसे सिक्के का परिदान जो इस ज्ञान के साथ कब्जे में आया हो कि उसे परिवर्तित किया गया है
  • आईपीसी धारा 251 – भारतीय सिक्के का परिदान जो इस ज्ञान के साथ कब्जे में आया हो कि उसे परिवर्तित किया गया है
  • आईपीसी धारा 252 – ऐसे व्यक्ति द्वारा सिक्के पर कब्जा जो उसका परिवर्तित होना उस समय जानता था जब वह उसके कब्जे में आया
  • आईपीसी धारा 253 – ऐसे व्यक्ति द्वारा भारतीय सिक्के पर कब्जा जो उसका परिवर्तित होना उस समय जानता था जब वह उसके कब्जे में आया
  • आईपीसी धारा 254 – सिक्के का असली सिक्के के रूप में परिदान जिसका परिदान करने वाला उस समय जब वह उसके कब्जे में पहली बार आया था, परिवर्तित होना नहीं जानता था
  • आईपीसी धारा 255 – सरकारी स्टाम्प का कूटकरण
  • आईपीसी धारा 256 – सरकारी स्टाम्प के कूटकरण के लिए उपकरण या सामग्री कब्जे में रखना
  • आईपीसी धारा 257 – सरकारी स्टाम्प के कूटकरण के लिए उपकरण बनाना या बेचना
  • आईपीसी धारा 258 – कूटकॄत सरकारी स्टाम्प का विक्रय
  • आईपीसी धारा 259 – सरकारी कूटकॄत स्टाम्प को कब्जे में रखना
  • आईपीसी धारा 260 – किसी सरकारी स्टाम्प को, कूटकॄत जानते हुए उसे असली स्टाम्प के रूप में उपयोग में लाना
  • आईपीसी धारा 261 – इस आशय से कि सरकार को हानि कारित हो, उस पदार्थ पर से, जिस पर सरकारी स्टाम्प लगा हुआ है, लेख मिटाना या दस्तावेज से वह स्टाम्प हटाना जो उसके लिए उपयोग में लाया गया है
  • आईपीसी धारा 262 – ऐसे सरकारी स्टाम्प का उपयोग जिसके बारे में ज्ञात है कि उसका पहले उपयोग हो चुका है
  • आईपीसी धारा 263 – स्टाम्प के उपयोग किए जा चुकने के द्योतक चिन्ह का छीलकर मिटाना
  • आईपीसी धारा 263क – बनावटी स्टाम्पों का प्रतिषेघ
  • आईपीसी धारा 264 – तोलने के लिए खोटे उपकरणों का कपटपूर्वक उपयोग
  • आईपीसी धारा 265 – खोटे बाट या माप का कपटपूर्वक उपयोग
  • आईपीसी धारा 266 – खोटे बाट या माप को कब्जे में रखना
  • आईपीसी धारा 267 – खोटे बाट या माप का बनाना या बेचना
  • आईपीसी धारा 268 – लोक न्यूसेन्स
  • आईपीसी धारा 269 – उपेक्षापूर्ण कार्य जिससे जीवन के लिए संकटपूर्ण रोग का संक्रम फैलना संभाव्य हो
  • आईपीसी धारा 270 – परिद्वेषपूर्ण कार्य, जिससे जीवन के लिए संकटपूर्ण रोग का संक्रम फैलना संभाव्य हो
  • आईपीसी धारा 271 – करन्तीन के नियम की अवज्ञा
  • आईपीसी धारा 272 – विक्रय के लिए आशयित खाद्य या पेय वस्तु का अपमिश्रण।
  • आईपीसी धारा 273 – अपायकर खाद्य या पेय का विक्रय
  • आईपीसी धारा 274 – औषधियों का अपमिश्रण
  • आईपीसी धारा 275 – अपमिश्रित ओषधियों का विक्रय
  • आईपीसी धारा 276 – ओषधि का भिन्न औषधि या निर्मिति के तौर पर विक्रय
  • आईपीसी धारा 277 – लोक जल-स्रोत या जलाशय का जल कलुषित करना
  • आईपीसी धारा 278 – वायुमण्डल को स्वास्थ्य के लिए अपायकर बनाना
  • आईपीसी धारा 279 – सार्वजनिक मार्ग पर उतावलेपन से वाहन चलाना या हांकना
  • आईपीसी धारा 280 – जलयान का उतावलेपन से चलाना
  • आईपीसी धारा 281 – भ्रामक प्रकाश, चिन्ह या बोये का प्रदर्शन
  • आईपीसी धारा 282 – अक्षमकर या अति लदे हुए जलयान में भाड़े के लिए जलमार्ग से किसी व्यक्ति का प्रवहण
  • आईपीसी धारा 283 – लोक मार्ग या पथ-प्रदर्शन मार्ग में संकट या बाधा कारित करना।
  • आईपीसी धारा 284 – विषैले पदार्थ के संबंध में उपेक्षापूर्ण आचरण
  • आईपीसी धारा 285 – अग्नि या ज्वलनशील पदार्थ के सम्बन्ध में उपेक्षापूर्ण आचरण।
  • आईपीसी धारा 286 – विस्फोटक पदार्थ के बारे में उपेक्षापूर्ण आचरण
  • आईपीसी धारा 287 – मशीनरी के सम्बन्ध में उपेक्षापूर्ण आचरण
  • आईपीसी धारा 288 – किसी निर्माण को गिराने या उसकी मरम्मत करने के संबंध में उपेक्षापूर्ण आचरण
  • आईपीसी धारा 289 – जीवजन्तु के संबंध में उपेक्षापूर्ण आचरण।
  • आईपीसी धारा 290 – अन्यथा अनुपबन्धित मामलों में लोक बाधा के लिए दण्ड।
  • आईपीसी धारा 291 – न्यूसेन्स बन्द करने के व्यादेश के पश्चात् उसका चालू रखना
  • आईपीसी धारा 292 – अश्लील पुस्तकों आदि का विक्रय आदि।
  • आईपीसी धारा 2925क – विमर्शित और विद्वेषपूर्ण कार्य जो किसी वर्ग के धर्म या धार्मिक विश्वासों का अपमान करके उसकी धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आशय से किए गए हों
  • आईपीसी धारा 292क – Printing,etc, of grossly indecent or securrilous matter or matter intended for blackmail
  • आईपीसी धारा 293 – तरुण व्यक्ति को अश्लील वस्तुओ का विक्रय आदि
  • आईपीसी धारा 294 – अश्लील कार्य और गाने
  • आईपीसी धारा 294क – लाटरी कार्यालय रखना
  • आईपीसी धारा 295 – किसी वर्ग के धर्म का अपमान करने के आशय से उपासना के स्थान को क्षति करना या अपवित्र करना।
  • आईपीसी धारा 296 – धार्मिक जमाव में विघ्न करना
  • आईपीसी धारा 297 – कब्रिस्तानों आदि में अतिचार करना
  • आईपीसी धारा 298 – धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के सविचार आशय से शब्द उच्चारित करना आदि।
  • आईपीसी धारा 299 – आपराधिक मानव वध
  • आईपीसी धारा 300 – हत्या
  • आईपीसी धारा 301 – जिस व्यक्ति की मॄत्यु कारित करने का आशय था उससे भिन्न व्यक्ति की मॄत्यु करके आपराधिक मानव वध करना।
  • आईपीसी धारा 302 – हत्या के लिए दण्ड
  • आईपीसी धारा 303 – आजीवन कारावास से दण्डित व्यक्ति द्वारा हत्या के लिए दण्ड।
  • आईपीसी धारा 304 – हत्या की श्रेणी में न आने वाली गैर इरादतन हत्या के लिए दण्ड
  • आईपीसी धारा 304क – उपेक्षा द्वारा मॄत्यु कारित करना
  • आईपीसी धारा 304ख – दहेज मॄत्यु
  • आईपीसी धारा 305 – शिशु या उन्मत्त व्यक्ति की आत्महत्या का दुष्प्रेरण।
  • आईपीसी धारा 306 – आत्महत्या का दुष्प्रेरण
  • आईपीसी धारा 307 – हत्या करने का प्रयत्न
  • आईपीसी धारा 308 – गैर इरादतन हत्या करने का प्रयास
  • आईपीसी धारा 309 – आत्महत्या करने का प्रयत्न।
  • आईपीसी धारा 310 – ठग।
  • आईपीसी धारा 311 – ठगी के लिए दण्ड।
  • आईपीसी धारा 312 – गर्भपात कारित करना।
  • आईपीसी धारा 313 – स्त्री की सहमति के बिना गर्भपात कारित करना
  • आईपीसी धारा 314 – गर्भपात कारित करने के आशय से किए गए कार्यों द्वारा कारित मॄत्यु।

असंज्ञेय अपराध (Non Cognizable) क्या है

2 thoughts on “आईपीसी (IPC) का क्या मतलब होता है | फुल फॉर्म | भारतीय दंड संहिता की धारा की सूची”

Leave a Comment