सीआरपीसी की धारा 33 क्या है | Section 33 CRPC in Hindi


सीआरपीसी की धारा 33 क्या है

दंड प्रक्रिया सहिता में नियुक्त अधिकारियों की शक्तियांइसका प्रावधान सीआरपीसी (CrPC) की धारा 33 में  किया गया है | यहाँ हम आपको ये बताने का प्रयास करेंगे कि दंड प्रक्रिया सहिता (CrPC) की धारा 33 के लिए किस तरह अप्लाई होगी | दंड प्रक्रिया सहिता यानि कि CrPC की धारा 33 क्या है ? इसके सभी पहलुओं के बारे में विस्तार से यहाँ समझने का प्रयास करेंगे | आशा है हमारी टीम द्वारा किया गया प्रयास आपको पसंद आ रहा होगा |

(CrPC Section 33) Dand Prakriya Sanhita Dhara 33 (नियुक्त अधिकारियों की शक्तियां)

इस पेज पर दंड प्रक्रिया सहिता की धारा 33 में “नियुक्त अधिकारियों की शक्तियांइसके बारे में क्या प्रावधान बताये गए हैं ? इनके बारे में पूर्ण रूप से इस धारा में चर्चा की गई है | साथ ही दंड प्रक्रिया संहिता (CrPC) की धारा 33 कब नहीं लागू होगी ये भी बताया गया है ? इसको भी यहाँ जानेंगे, साथ ही इस पोर्टल www.nocriminals.org पर दंड प्रक्रिया संहिता (CrPC) की अन्य महत्वपूर्ण धाराओं के बारे में विस्तार से बताया गया है आप उन आर्टिकल के माध्यम से अन्य धाराओं के बारे में भी विस्तार से जानकारी  ले सकते हैं |

सीआरपीसी की धारा 10 क्या है



CrPC (दंड प्रक्रिया संहिता की धारा) की धारा 33 के अनुसार :-

नियुक्त अधिकारियों की शक्तियां

सरकार की सेवा में पद धारण करने वाला ऐसा व्यक्ति, जिसमें उच्च न्यायालय या राज्य सरकार द्वारा, उस संहिता के अधीन कोई शक्तियां किसी समग्र स्थानीय क्षेत्र के लिए निहित की गई हैं, जब कभी उसी प्रकार के समान या उच्चतर पद पर उसी राज्य सरकार के अधीन वैसे ही स्थानीय क्षेत्र के अंदर नियुक्त किया जाता है, तब वह, जब तक, यथास्थिति, उच्च न्यायालय या राज्य सरकार अन्यथा निदेश न दे या न दे चुकी हो, उस स्थानीय क्षेत्र में, जिसमें वह ऐसे नियुक्त किया गया है, उन्हीं शक्तियों का प्रयोग करेगा।

सीआरपीसी की धारा 9 क्या है

According to Section. 33 “ POWERS OF OFFICERS APPOINTED ”–     

Whenever any person holding an office in the service of Government who has been invested by the High Court or the State Government with any powers under this Code throughout any local area is appointed to an equal or higher office of the same nature, within a like local area under the same State Government, he shall, unless the High Court or the State Government, as the case may be, otherwise directs, or has otherwise directed, exercise the same powers in the local area in which he is so appointed.

सीआरपीसी की धारा 8 क्या है 

आपको आज  दंड प्रक्रिया संहिता  की धारा 33 “नियुक्त अधिकारियों की शक्तियांइसके  बारे में जानकारी हो गई होगी | कैसे इस धारा को लागू किया जायेगा ?  इन सब के बारे में विस्तार से हमने उल्लेख किया है, यदि फिर भी इस धारा से सम्बन्धित या अन्य धाराओं से सम्बंधित किसी भी प्रकार की कुछ भी शंका आपके मन में हो या अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो आप  कमेंट बॉक्स के माध्यम से अपने प्रश्न और सुझाव हमें भेज सकते है |

सीआरपीसी की धारा 7 क्या है

यदि आप अपने सवाल का उत्तर प्राइवेट चाहते है तो आप अपना सवाल कांटेक्ट फॉर्म के माध्यम से पूछें |

Leave a Comment