भारतीय संविधान सभा का गठन कब हुआ था

हम सबको संविधान के बारे में अक्सर बहुत कुछ पेपर पत्रिकाओं में देखने सुनने को मिलता रहता है इसके बारे में कहा जाता है कि संविधान वो दस्तावेज हैं जिस पर हमारे भारत देश की शासन व्यवस्था और हमारा समाज सुचारु रूप से चल रहा  है | जब हम ये जानने कि कोशिश करते है कि हमारा संविधान कब और कैसे बना तब हम पाते हैं कि इसको बनाने के लिए सर्वप्रथम सन 1935 में एक संविधान सभा की मांग की थी और इसका विचार एम.एन. रॉय द्वारा दिया गया था | संविधान में बहुत सारे नियम प्रावधानित है जिनके आधार पर हमारा देश आगे बढ़ता है और विकास के पथ पर अग्रसर होता है |

संविधान का जब निर्माण हुआ था तब उस समय संविधान में  कुल 22 भाग और 8 अनुसूचियां थीं | उसके बाद संविधान में संवैधानिक संशोधनों के द्वारा अनुसूचियों की संख्या 8 से बढ़कर 12 हो गई है । संविधान संशोधन अधिनियम, 1992 के अंतर्गत क्रमशः संविधान के 73 वें और 74 वें संशोधन द्वारा 11वीं एवं 12वीं अनुसूची को संविधान में सम्मिलित किया गया हैं । उपरोक्त के बारे में हमने विस्तार से दूसरे अपने अन्य आर्टिकल में चर्चा की है आप उनका अवलोकन कर सकते हैं | आज हम यहाँ इस  पेज पर भारतीय संविधान सभा का गठन कब हुआ था | अध्यक्ष | सदस्य | Constituent Assembly of India in के बारे में विस्तार से बता रहें हैं | 

भारतीय संविधान की 11वीं अनुसूची क्या है

भारतीय संविधान सभा का गठन कब हुआ था

इस पोर्टल के माध्यम से यहाँ भारतीय संविधान सभा का गठन कब हुआ था | अध्यक्ष | सदस्य | Constituent Assembly of India in Hindi के बारे में पूर्ण रूप से बात होगी | साथ ही इस पोर्टल www.nocriminals.org पर अन्य संविधान की महत्वपूर्ण बातों और उसकी प्रमुख विशेषताओं के बारे में विस्तार से बताया गया है आप उन आर्टिकल के माध्यम से संविधान के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

भारतीय संविधान की प्रस्तावना या उद्देशिका क्या है

प्रस्तावना

“हम भारत के लोग, भारत को एक सम्पूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को :

न्याय, सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक,

विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता,

प्रतिष्ठा और अवसर की समता प्राप्त करने के लिए तथा,

उन सबमें व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखण्डता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढाने के लिए,

दृढ संकल्प होकर अपनी इस संविधान सभा में आज तारीख 26 नवंबर, 1949 ई0

को एतद द्वारा इस संविधान को अंगीकृत, अधिनियमित और आत्मार्पित करते हैं |”

संविधान संशोधन (Constitutional Amendment) क्या है

भारतीय संविधान में कितने भाग हैं

भारतीय संविधान सभा का गठन और सदस्यों की जानकारी (Constituent Assembly and Member)

भारत देश 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्र हुआ था | स्वतंत्रता के लगभग 28 माह बाद यानि की  26 जनवरी 1950 को भारत का संविधान लागू हुआ और इसी के साथ भारत एक लोकतांत्रिक और गणतंत्र देश बन गया | यह संविधान भारतीयों द्वारा भारत की जनता के लिए बनाया गया था । संविधान सभा की स्थापना वर्ष 1946 के कैबिनेट मिशन योजना अंतर्गत की गई थी । संविधान सभा के कुल 389 सदस्य थे, जिसमें से 292 प्रांतों के प्रतिनिधि, 93 देशी रियासतों के प्रतिनिधि तथा 4 केन्द्र शासित प्रदेश में प्रतिनिधि थे।

Juvenile Justice Act 2000 in Hindi



भारतीय संविधान सभा का गठन (Constituent Assembly)

भारतीय संविधान सभा का गठन कब हुआ था, इसमें कितने सदस्य थे,  इसकी चर्चा करने से पहले आपको ये बता दें कि भारतीय संविधान सभा का निर्माण ‘भारत के संविधान’ को तैयार करने के लिए किया गया था। संविधान सभा की सबसे पहली  कार्यवाही 13 दिसम्बर 1946 को जवाहर लाल नेहरू द्वारा पेश किये गए एक उद्देश्य प्रस्ताव के साथ प्रारम्भ हुई थी। उसके बाद जुलाई 1945 में द्वितीय विश्वयुद्ध जब समाप्त हुआ तब ब्रिटेन में एक नयी सरकार का गठन हुआ और इसी के साथ नयी सरकार के द्वारा  भारत के संबन्ध में अपनी नई नीति की घोषणा की गई तथा एक संविधान निर्माण करने के लिए एक समिति बनाने का निर्णय लिया। आपको ऊपर ही बताया गया है कि कैबिनेट मिशन के द्वारा 1946 में संविधान सभा का बुनियादी ढाँचा तय किया गया था |

26 जनवरी को ही क्यों लागू हुआ संविधान

संविधान सभा में सदस्य (Member of Constituent Assembly)

संविधान सभा के सदस्यों को सम्प्रदाय के आधार पर तीन वर्गों मुस्लिम, सिख और सामान्य में बाँटा गया | संविधान सभा का पहला अधिवेशन 9 दिसम्बर 1946 को हुआ, लेकिन मुस्लिम लीग ने इसका बहिष्कार कर दिया और साथ ही पृथक संविधान सभा का गठन की मांग की | इसके पश्चात तब 3 जून 1947 के विभाजन योजना के द्वारा पाकिस्तान के लिए पृथक संविधान सभा को गठित किया गया। आपको यहां बता दें कि संविधान सभा पुनर्गठित हुई और पुनर्गठित संविधान सभा में 324 सदस्यों की संख्या निश्चित की गयी। 31 अक्टूबर 1947 को संविधान सभा बुलायी गयी, तब उसमें 299 सदस्य थे, जिसमे 70 देशी रियासतों के प्रतिनिधि थेहैदराबाद रियासत के सदस्य संविधान सभा में शामिल नही हुऐ |

संविधान सभा की पहली बैठक दिल्ली संसद भवन  में हुई थी, इसमें अस्थायी अध्यक्ष डॉ. सच्चिदानन्द सिन्हा को चुना गया | तत्पश्चात 11 दिसम्बर 1946 को डॉक्टर राजेन्द्र प्रसाद को स्थायी अध्यक्ष के लिए चुना गया। 22 जनवरी 1947 को संविधान सभा द्वारा उदेश्य प्रस्ताव स्वीकृत हुआ। इसके बाद भीमराव अम्बेडकर की अध्यक्षता मे प्रारूप समिति का गठन हुआ। श्री बी.एन. राव ( बेनेगल नरसिंह राव जो एक न्यायधीश थे ) संविधान सभा के संवैधानिक सलाहकार थे। 11 दिसम्बर 1946 को दूसरी बैठक हुई, जिसमें संविधान सभा द्वारा डॉ. राजेन्द्र प्रसाद को अपना स्थायी अध्यक्ष तथा एस सी . मुखर्जी को उप सभापति नियुक्त कर लिया गया ।

सूचना का अधिकार अधिनियम 2005 क्या है

संविधान सभा के कार्य (Functions of the Constituent Assembly)

  • संविधान को तैयार करना।
  • अधिनियमित कानूनों को निर्णय लेने की प्रक्रिया में शामिल करना ।
  • 22 जुलाई 1947 को संविधान सभा द्वारा राष्ट्रीय ध्वज को अपनाया गया।
  • इसने मई 1949 में ब्रिटिश राष्ट्रमंडल में भारत की सदस्यता को स्वीकार कर मंजूरी दे दी थी।
  • 24 जनवरी 1950 को भारत के प्रथम राष्ट्रपति के रूप में डॉ राजेन्द्र प्रसाद को चुना गया था ।
  • 24 जनवरी 1950 को इसने राष्ट्रीय गान को अपनाया।
  • 24 जनवरी1950 को इसने राष्ट्रीय गीत को अपनाया।

राजस्व विभाग (Rajaswa Vibhag) में प्रचलित प्रमुख शब्द

संविधान सभा की प्रारूप समिति के सदस्य (Member of Drafting Committee Constituent Assembly)

  • डॉ. बी. आर. अम्बेडकर
  • एन. गोपालास्वामी आयंगर
  • अल्लादी कृष्णा स्वामी
  • के. एम. मुन्शी
  • मुहम्मद सदाउल्ला
  • बी. एल. मित्तर ( अस्वस्थ होने के कारण त्यागपत्र दे दिया और उनके स्थान पर एन माधवन राव को नियुक्त किया गया।)
  • डी. पी. खेतान ( इनकी मृत्यु 1948 में हो गई और उनके स्थान पर टी. कृष्णमाचारी को सदस्य बना दिया गया)

पॉक्सो एक्ट क्या है

संविधान सभा की समितियां (Committees of Constituent Assembly)

संविधान सभा ने संविधान बनाने के विभिन्न पहलुओं पर अध्ययन के लिए कुल मिलाकर 8 प्रमुख समितियों का गठन किया था, जो निम्न प्रकार से हैं 

  • केंद्रीय शक्तियों वाली समिति |
  • केंद्रीय संविधान समिति |
  • प्रांतीय संविधान समिति |
  • मसौदा समिति |
  • मौलिक अधिकारों और अल्पसंख्यकों के लिए सलाहकार समिति |
  • प्रक्रिया समिति के नियम |
  • राज्यों की समिति (राज्यों के साथ बातचीत के लिए समिति) |
  • जवाहर लाल नेहरू संचालन समिति।

इन 8 समितियों के अलावा सबसे महत्वपूर्ण मसौदा समिति थी। संविधान सभा ने 29 अगस्त 1947 को भारतीय संविधान का मसौदा तैयार करने के लिए एक मसौदा समिति का गठन किया था।

आचार संहिता क्या है

मित्रों उपरोक्त वर्णन से आपको आज भारतीय संविधान सभा का गठन कब हुआ था | अध्यक्ष | सदस्य | Constituent Assembly of India in Hindi  इसके बारे में जानकारी हो गई होगी | भारतीय संविधान सभा का गठन कब हुआ था | अध्यक्ष | सदस्य  के बारे में विस्तार से हमने उल्लेख किया है, यदि फिर भी इससे सम्बन्धित या अन्य किसी भी प्रकार की कुछ भी शंका आपके मन में हो या अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो आप  हमें  कमेंट  बॉक्स  के  माध्यम  से अपने प्रश्न और सुझाव हमें भेज सकते है | इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें |

पार्टनरशिप डीड क्या है

Leave a Comment