पॉक्सो एक्ट धारा 30 क्या है | Pocso Act Section 30 in Hindi – विवरण

पॉक्सो एक्ट की धारा 30 क्या है

आज हम आपके लिए इस पेज पर पॉक्सो एक्ट (Pocso Act) की धारा 30 की जानकारी लेकर आये है | यहाँ हम आपको बताएँगे  कि पॉक्सो एक्ट (Pocso Act) की धारा 30 किस प्रकार से परिभाषित की गई है और इसका क्या अर्थ है ? पॉक्सो एक्ट की धारा 30 क्या है, इसके बारे में आप यहाँ जानेंगे |

आपराधिक मानसिक दशा की उपधारणा

इस पोर्टल के माध्यम से यहाँ धारा 30 क्या बताती है ? इसके बारे में पूर्ण रूप से बात होगी | साथ ही इस पोर्टल www.nocriminals.org पर अन्य पॉक्सो एक्ट (Pocso Act) की महत्वपूर्ण धाराओं के बारे में विस्तार से बताया गया है आप उन आर्टिकल के माध्यम से अन्य धाराओं के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

पॉक्सो एक्ट धारा 11 क्या है
पॉक्सो एक्ट धारा 12 क्या है
पॉक्सो एक्ट धारा 13 क्या है
पॉक्सो एक्ट धारा 14 क्या है
पॉक्सो एक्ट धारा 15 क्या है
पॉक्सो एक्ट धारा 16 क्या है
पॉक्सो एक्ट धारा 17 क्या है
पॉक्सो एक्ट धारा 18 क्या है
पॉक्सो एक्ट धारा 19 क्या है
पॉक्सो एक्ट धारा 20 क्या है

[Pocso Act Sec. 30 in Hindi]

पॉक्सो एक्ट धारा 29 क्या है

Pocso Act (पॉक्सो एक्ट) की धारा 30 के अनुसार :-

आपराधिक मानसिक दशा की उपधारणा

(1) इस अधिनियम के अधीन किसी अपराध के लिए किसी अभियोजन में, जो अभुियक्त की ओर से आपराधिक मानसिक स्थिति की अपेक्षा करता है, विशेष न्यायालय ऐसी मानसिक दशा की विशमानता की उपधारणा करेगा, किन्तु अभियुक्त के लिए यह तथ्य साबित करने के लिए प्रतिरक्षा होगी कि उस अभियोजन में किसी अपराध के रूप में आरोपित कृत्य के संबंध में उसकी ऐसी मानसिक दशा नहीं थी।

(2) इस धारा के प्रयोजनों के लिए किसी तथ्य का सावित किया जाना केवल तभी कहा जाएगा जब विशेष न्यायालय उसके युक्तियुक्त संदेह से परे विद्यमान होने पर विश्वास करता है और केवल तब नहीं जब इसकी विद्यमानता संभाव्यता की प्रबलता द्वारा स्थापित होती है।

स्पष्टीकरण

इस धारा में “आपराधिक मानसिक दशा” के अंतर्गत आशय, हेतुक, किसी तथ्य का ज्ञान और किसी तथ्य में विश्वास या विश्वास किए जाने का कारण भी है।

पॉक्सो एक्ट धारा 28 क्या है

According to Pocso Act Section 30 –      “Presumption of culpable mental state. ”–

 (1) In any prosecution for any offence under this Act which requires a culpable mental state on the part of the accused, the Special Court shall presume the existence of such mental state but it shall be a defence for the accused to prove the fact that he had no such mental state with respect to the act charged as an offence in that prosecution.

(2) For the purposes of this section, a fact is said to be proved only when the Special Court believes it to exist beyond reasonable doubt and not merely when its existence is established by a preponderance of probability.

Explanation

In this section, “culpable mental state” includes intention, motive, knowledge of a fact and the belief in, or reason to believe, a fact.

पॉक्सो एक्ट धारा 27 क्या है

मित्रों उपरोक्त वर्णन से आपको आज पॉक्सो एक्ट (Pocso Act) की धारा 30 के बारे में जानकारी हो गई होगी | कैसे  इस धारा  को  लागू  किया जायेगा ?  इन सब के बारे में विस्तार से हमने उल्लेख किया है, यदि फिर भी इस धारा से सम्बन्धित या अन्य धाराओं से सम्बंधित किसी भी प्रकार की कुछ भी शंका आपके मन में हो या अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो आप  हमें  कमेंट  बॉक्स  के  माध्यम  से  अपने प्रश्न और  सुझाव हमें भेज सकते है | इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें |

पॉक्सो एक्ट धारा 26 क्या है

Leave a Comment