कारण बताओ (शो कॉज) नोटिस क्या है | Show Cause Notice कैसे लिखे

कारण बताओ नोटिस के बारें में हमें अक्सर ही टीवी, समाचार पत्रों के माध्यम से जानकारी प्राप्त होती रहती है | अधिकांशतः यह नोटिस विभिन्न सरकारी कार्यालयों में कर्मचारी द्वारा  संतोषजनक कार्य न करनें, समय पर कार्यालय न पहुचनें, दिए हुए कार्य को समय पर न करनें आदि से सम्बंधित मामले में कर्मचारी से स्पष्टीकरण माँगा जाता है | कारण बताओ नोटिस देने के बाद एक निर्धारित समय में कर्मचारी को स्पष्ट शब्दों में कार्य को न करनें का कारण बताना होता है |

हालाँकि कारण बताओ नोटिस किसी भी विभाग के सक्षम अधिकारी द्वारा, न्यायालय द्वारा सरकार को या किसी सरकारी विभाग को या सरकार द्वारा किसी संगठन को आदि को जारी किया जा सकता है | आखिर यह कारण बताओ (शो कॉज) नोटिस क्या है,यह नोटिस कैसे लिखा जाता है एवं  इसका जवाब कैसे दिया जाता है? इसके बारें में आपको यहाँ पर विस्तार से जानकारी दे रहे है | साथ ही इस पोर्टल www.nocriminals.org पर अन्य लॉ से सम्बंधित महत्वपूर्ण विषयों  के बारे में विस्तार से बताया गया है आप उन आर्टिकल के माध्यम से अन्य विषयों के बारे में भी विस्तार से जानकारी प्राप्त कर सकते हैं |

लोन एग्रीमेंट क्या होता है 

कारण बताओ नोटिस क्या है (What is the Show Cause Notice)

“Show cause notice means a court order that requires a party to appear before the court and explain why a certain courses of action should not be taken against it. If the party can’t convenience the court or fails to appear that course of action is taken”.

सबसे पहले आपको यह बता दें कि कारण बताओ अर्थात शो कॉज नोटिस कोर्ट, गवर्नमेंट या सरकार,कोई भी सरकारी विभाग,अथारिटी या कोई संगठन जारी कर सकता है |  जब कोर्ट द्वारा शो कॉज नोटिस जारी की जाती है, तो उस पार्टी या व्यक्ति को कोर्ट के समक्ष प्रस्तुत होकर यहाँ उस पार्टी को स्पष्टीकरण देना होता है | कोर्ट द्वारा उस पार्टी से यह पुछा जाता है, कि आपके विरुद्ध यह साक्ष्य मिले है, तो आपके खिलाफ कार्यवाही क्यों न की जाये या आपको सजा क्यों न दी जाये? ऐसे में पार्टी अपना उत्तर न्यायालय के समक्ष प्रस्तुत करती है, यदि कोर्ट उसके उत्तर से संतुष्ट है तो ठीक है, अन्यथा दोषी के विरुद्ध कार्यवाही सुनिश्चित की जाती है | 

पार्टनरशिप डीड क्या है

कारण बताओ नोटिस कैसे जारी होता है (How is the Show Cause Notice Issued)

कारण बताओ अर्थात शो कॉज नोटिस कैसे जारी किया जाता है, इसे हम एक उदाहरण के माध्यम से समझा रहे है, जैसे कि सरकार अपनें अनेक प्रकार के कार्य टेंडर अर्थात कॉन्ट्रैक्ट के माध्यम से करवाती है| इस प्रकार होनें वाले टेंडर के लिए सरकार द्वारा एक गाइडलाइन जारी की जाती है, जिसे टेंडर लेने वाली कम्पनी या कॉन्ट्रैक्टर को फॉलो करना होता है| यदि कॉन्ट्रैक्टर सरकार द्वारा दी गयी गाइडलाइन के अनुरूप कार्य नहीं करता है और अनेक प्रकार की शिकायते मिलती है |

ऐसे में सरकार या सम्बंधित विभाग द्वारा कम्पनी या कॉन्ट्रैक्टर को शो कॉज नोटिस जारी कर सकती है | इसके उपरांत पार्टी अपना पक्ष प्रस्तुत करेगी यदि स्पष्टीकरण से सरकार सहमत है, तो ठीक है अन्यथा टेंडर निरस्त करनें के साथ ही उनके विरुद्ध कार्यवाही कर दी जाती है |       

बिक्री विलेख पंजीकरण            

कारण बताओ नोटिस की आवश्यकता (Show Cause Notice Required)

हमारे देश में ऐसे अनेक प्रकरण है, जिनमें कारण बताओ नोटिस जारी किये जा चुके है | इससे सम्बंधित मामले इतनें अधिक है, कि इसकी गणना नही की जा सकती| कारण बताओं नोटिस जारी करनें का मुख्य उद्देश्य वास्तविक सच्चाई का पता लगाना होता है| सबसे खास बात यह है कि इसमें लिखित रूप से दोषी व्यक्ति से ही कारण पूछा जाता है, यदि दोषी व्यक्ति अपनें उत्तर में यह स्पष्ट कर देता है, कि उसनें यह गलती की है परन्तु इसके पीछे उस अमुख व्यक्ति का दबाव था, जिसके कारण उसे ऐसा करना पड़ा आदि |

कुल मिलाकर यदि दोषी व्यक्ति अपनें उत्तर से संतुष्ट कर देता है, तो उसके विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं होती है | वैसे अधिकांशतः मामलों में जिस व्यक्ति को नोटिस मिलती है वह किसी भी प्रकार से अपनें बचाव से सम्बंधित पक्ष में ही अपना जवाब प्रस्तुत करनें का भरषक प्रयास करते है | 

Rental Agreement Format in Hindi   

कारण बताओ नोटिस का जवाब कैसे लिखे (How to write a reply to Show Cause Notice)

जब किसी कर्मचारी या अन्य को कारण बताओ नोटिस दिया जाता है, तो उस कर्मचारी या अन्य कोस्पष्टीकरण पत्र के माध्यम से अपना पक्ष रखना होता है। मुख्यरूप से यह पत्र आमतौर पर गलती, अनुपस्थिति, किसी घटना या लापरवाही का कारण समझाने के लिए लिखे जाते हैं। हम आपको कारण बताओ नोटिस का प्रारूप लिखकर बता रहे है, जो इस प्रकार है-

एमओयू क्या है

बिना छुट्टी के अनुपस्थिति रहने के लिये स्पष्टीकरण

सेवा में,                                                                          दिनांक – 19.12.2020

H.R मैनेजर,

ABC प्राइवेट लिमिटेड,

कानपुर|

विषय: अनुपस्थिति के स्पष्टीकरण के संबंध में।

प्रसंग: आपका पत्रांक-321, दिनांक-17.12.2020 को प्राप्त आपका ई-मेल

श्रीमान,

इस पत्र के माध्यम से आपको सूचित करना चाहता हूँ कि मैं 15दिसंबर 2020 को कार्यालय में उपस्थित होने में असमर्थ था क्योंकि, मरे समक्ष कुछ ऐसी परिस्थितियां उत्पन्न हो गयी थी, जो मेरे नियंत्रण से बाहर थी| जिसके कारण उस समय मेरे पास आपको बताए बिना काम से समय निकालने के अलावा कोई विकल्प नहीं था।

दरअसल, कल मेरे एक बहुत ही नजदीकी मित्र का एक्सीडेंट हो गया था, जो इस शहर में अकेले रहता है | दुर्घटना में चोट अधिक लगनें के कारण उसका ऑपरेशन करवाना पड़ा जिसमे अधिक समय लग गया। दूसरी ओर, मैं श्री……..  (कार्यालय प्रबंधक) से संपर्क किया ताकि उन्हें पता चल सके कि मैं उपलब्ध नहीं रहूँगा।

मैं कार्यालय को सूचित किए बिना कार्य से अनुपस्थिति रहने के लिए क्षमा प्रार्थी हूं। मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि ऐसा व्यवहार फिर कभी प्रदर्शित नहीं होगा।

धन्यवाद|

आपका विश्वनीय,

                                                                                      ………………

लेखाकार,

                                                                                 ABC प्राइवेट लिमिटेड,

                                                                                             कानपुर।

लीगल नोटिस क्या होता है

मित्रों उपरोक्त वर्णन से आपको आज  कारण बताओ (शो कॉज) नोटिस क्या है | Show Cause Notice कैसे लिखे | जवाब कैसे दे के बारे में जानकारी हो गई होगी | कैसे इस धारा को लागू किया जायेगा ?  इन सब के बारे में विस्तार से हमने उल्लेख किया है, यदि फिर भी इस धारा से सम्बन्धित या अन्य धाराओं से सम्बंधित किसी भी प्रकार की कुछ भी शंका आपके मन में हो या अन्य कोई जानकारी प्राप्त करना चाहते है, तो आप  हमें  कमेंट  बॉक्स  के  माध्यम  से अपने प्रश्न और सुझाव हमें भेज सकते है | इसको अपने मित्रो के साथ शेयर जरूर करें |

प्रमुख कानूनी शब्दावली

यदि आप अपने सवाल का उत्तर प्राइवेट चाहते है तो आप अपना सवाल कांटेक्ट फॉर्म के माध्यम से पूछें |

Leave a Comment